May 27, 2015

दिल का तराना गा ले (सोसाइटी -1955) Dil ka tarana ga le (Society -1955)

दिल का तराना गा ले, सोच न कर मतवाले
ये ज़िंदगानी, ये नौजवानी, ये शादमानी
फिर कहाँ, फिर कहाँ, फिर कहाँ ?

सारे जहन्नुम, सारी बहिश्तें, झूठे बहाने हैं
पहलू की जन्नत, जिंदा हकीकत, बाकी फसाने हैं
ये ज़िंदगानी, ये नौजवानी, ये शादमानी
फिर कहाँ, फिर कहाँ, फिर कहाँ ?

ये मस्त रातें, झूमे बारातें, जा के न आएंगी
इन महफ़िलों की, इन दिलबरों की यादें सताएंगी
ये ज़िंदगानी, ये नौजवानी, ये शादमानी
फिर कहाँ, फिर कहाँ, फिर कहाँ ?

तड़पें अचल है, मरना अटल है, मरने से पहले जी
लहरा के गा के, दुनिया पे छा के, मस्ती के सागर पी
ये ज़िंदगानी, ये नौजवानी, ये शादमानी
फिर कहाँ, फिर कहाँ, फिर कहाँ ?
 
[Composer ; S.D.Burman, Singer : Geeta Dutt, Director : Shahid Latif, Producer ; Ismat Chugtai] 


 

May 26, 2015

प्यार भरी धडकनों के हार ले के आऊँगी (अंगारे-1954) Pyar bhari dhadkano ke haar le ke aaungi (Angaarey -1954)

प्यार भरी धडकनों के हार ले के आऊँगी
तेरे लिये आज रात को

कहना दिल--बेक़रार से
बाहर न हो इख़्तियार से
चैन ले के आऊँगी, करार ले के आऊँगी
तेरे लिये आज रात को

मस्ती की बाहों में झूल के
आऊँगी दुनिया को भूल के
रंग ले के आऊँगी, निखार ले के आऊँगी
तेरे लिये आज रात को

झपके न आँख इंतज़ार की
टूटे न लय दिल के तार की
ज़िंदगी का सोलहवां सिंगार ले के आऊँगी
तेरे लिये आज रात को

[Composer : S.D.Burman, Singer : Lata Mangeshkar, Actor - Nargis, Nasir Khan]
 
 

May 21, 2015

क्रोध कपट के अंधियारे में (अरमान -1953) Krodh kapat ke andhiyare men (Armaan -1953)

क्रोध कपट के अंधियारे में जीवन ज्योत जगाये जा
आते जाते सांस की धुन पे हरी नाम गुण गाये जा  

क्या ढूंढे बस्ती और बन में
प्रभु  तेरा  है  तेरे  मन में
दर-दर अलख जगाने  वाले
भीतर  खोज  लगाये  जा
क्रोध कपट के अंधियारे में जीवन ज्योत जगाये जा

ये जीवन करमों की खेती
जो बीजो तो ही फल देती
इस दुनिया में दान दिये जा
उस  दुनिया  में  पाये  जा
क्रोध कपट के अंधियारे में जीवन ज्योत जगाये जा

ये जग है दो दिन का ठिकाना
जोगी  रे  तोहे  दूर  है जाना
तोड़  के मायाजाल  के  बंधन
लौ  ईश्वर  से   लगाये   जा
क्रोध कपट के अंधियारे में जीवन ज्योत जगाये जा

 
 [Composer :  S D Burman, Singer : Manna Dey, Producer : F.Tech of India, Director : Fali Mistry]

May 19, 2015

इश्क़ और मुश्क़ कदे न छुप दे (काला पत्थर -1979) Isq aur musq kade na chhup de (Kala Pathar-1979)

इश्क़ और मुश्क़ कदे न छुप दे, ते चाहे लख छुपाइये
अखां लख झुका के चलिये, ते पल्ला लख बचाइये
इश्क़ है सच्चे रब दी रहमत, इश्क़ तों क्यूँ शर्माइये
चढ़ दे चंद ने चढ़ के रहना, कान्नू पर्दे पाइये


जग्गेया जग्गेया जग्गेया,
कदे इश्क़ छुपण नयो लगेया

दुनिया दी इस भीड़ दे अंदर, जे कोई अपणा पाइये
अपणे नूँ खुशकिस्मत कहिये, ते रब दा शुकर मनाइये
दिल बदले दिल मिलें ते यारा, सौदा झट चुकाइये
अम्बर ते जो स्वर्ग बसे, ओ धरती ते लै आइये

जग्गेया जग्गेया जग्गेया,
कदे इश्क़ छुपण नयो लगेया

दुनिया चार दिनां दा मेला, मत्थे बल न पाइये
कौण भले कौण मन्दे जग विच्च, सबणा नाल निभाइये
जग्गेया जग्गेया जग्गेया

सान्नू कौल ऐ सच्चा लगेया

पापां दी इस नगरी अंदर किस दे ऐब गिणाइये
अपणे अंदर जद-जद तकिये, अपणे तों शर्माइये

जग्गेया जग्गेया जग्गेया
सान्नू कौल ऐ सच्चा लगेया  


[Music : Rajesh Roshan;  Singer : Mahendra Kapoor, Pamela Chopra, S.K.Mahaan;  Producer/Director : Yash Chopra;   Artist : Parikshit Sahni, Amitabh Bachchan, Rakhi]



तुम अगर साथ देने का वादा करो (हमराज़ 1967) Tum agar saath dene ka wada karo (Hamraaz-1967)

तुम अगर साथ देने का वादा करो
मैं यूं ही मस्त नग़में लुटाता रहूं
तुम मुझे देखकर मुस्कुराती रहो
मैं तुम्हें देखकर गीत गाता रहूँ

कितने जलवे फ़िज़ाओं में बिखरे मगर
मैंने अब तक किसी को पुकारा नहीं
तुमको देखा तो नज़रें ये कहने लगीं
हमको चेहरे से हटना गवारा नहीं
तुम अगर मेरी नज़रों के आगे रहो
मै हर एक शै से नज़रें चुराता रहूँ

मैने ख़्वाबों में बरसों तराशा जिसे
तुम वही संग--मरमर की तस्वीर हो
तुम न समझो तुम्हारा मुक़द्दर हूँ मैं
मैं समझता हूं तुम मेरी तक़दीर हो
तुम अगर मुझको अपना समझने लगो
मैं बहारों की महफ़िल सजाता रहूं

मैं अकेला बहुत देर चलता रहा
अब सफ़र ज़िन्दगानी का कटता नहीं
जब तलक कोई रंगीं सहारा ना हो
वक़्त क़ाफ़िर जवानी का कटता नहीं
तुम अगर हमक़दम बन के चलती रहो
मैं ज़मीं पर सितारे बिछाता रहूं |


[Composer : Ravi;  Singer : Mahender Kapoor;  Producer & Director : B.R.Chopra;  Actor : Sunil Dutt, Vimi]