March 31, 2012

बेटा डर मत, डर मत, डर मत (भाई बहन -1959) Beta dar mat,dar mat dar mat (Bhai Bahen - 1959)

बेटा डर मत, डर मत, डर मत
आहें भर मत, भर मत, भर मत
चिंता कर मत, कर मत, कर मत
यूं ही मर मत, मर मत, मत ।  

तेरे  पांव  के नीचे  दुनिया
बूट  की  छाँव  के  नीछे दुनिया
तू  है  राजाओं  का  रजा,
दो  दिन  सच  में  मौज  मन  जा .
रे  बेटा  डर  मत  ।

 भाई  लोग  हैं  सच  फरमाते
हर कुत्ते  के  दिन  हैं  आते
जिसने  आज  दिया कर देगा
तुझ  को  मनचाहा  फल  देगा
रे  बेटा  डर  मत ।

नाचो  डिंग  डिंग  डिंग  डिंग  डारा
गाओ  तारा  रार  रार
बोलो  गिट  मिट गिट मिट गिट मिट
ले  लो  हम  से  ख़ुशी  का  परमिट
रे  बेटा  डर  मत ।
बेटा डर मत, डर मत, डर मत
आहें भर मत, भर मत, भर मत
चिंता कर मत, कर मत, कर मत
यूं ही मर मत, मर मत, मत ।

[Singer : Md. Rafi;  Composer : N.Dutta; Actor : Johny Walker]


March 27, 2012

राम रहीम कृष्ण करीम, यशु मशीह और इब्राहीम (मेहमान -1973) Ram Rahim Krishn Karim, Yeshu Mashih aur Ibrahim (Mehmaan -1973)


राम रहीम कृष्ण करीम,  यशु मशीह और  इब्राहीम
सबकी है इक ही तालीम ।

काशी काबे मथुरा मक्के एक ही नूर समाया
किसी ने सजदा किया उसे और किसी ने शीश नवाया
कोने कोने भटक चुके तब हमने भेद ये पाया
सबकी है इक ही तालीम ।

भले करम कर दुनिया में ये करम है नेक कमाई
इन करमों में छुपी है सारे धर्मों की सच्चाई
जिसने अच्छे करम किये हर धरम की लाज निभायी ।
सबकी है इक ही तालीम ।

ईश्वर से अल्लाह अलग, अल्लाह से ईश्वर जुदा नहीं
ये मत सोच तेरे करमो का उस मालिक को पता नहीं
सौ परदों में पाप करे तू फिर भी उससे छुपा नहीं ।


[Singers : Mahender Kapoor, Sharda;  Composer : Ravi;  Producer : Shatrujeet Pal,  Director : Kotayya Pratyagatma]

ईश्वर अल्लाह तेरे नाम सबको सन्मति दे भगवान (नया रास्ता -1970) Ishwar allah tere naam sabko sanmati de bhagwarn (Naya raasta -1970)


ईश्वर अल्लाह तेरे नाम सबको सन्मति दे भगवान
सबको सन्मति दे भगवान सारा जग तेरी सन्तान  |

इस धरती पर बसने वाले, सब हैं तेरी गोद के पाले
कोई नीच ना कोई महान, सबको सन्मति दे भगवान |

जातों नस्लों के बटवारे, झूठ कहाँ ये तेरे द्वारे
तेरे लिए सब एक समान, सबको सन्मति दे भगवान |

जनम का कोई मोल नहीं है, जनम मनुष्य का तोल नहीं है
करम से है सबकी पहचान, सबको सन्मति दे भगवान |

[Singer : Rafi, Composer : N.Dutta;  Producer : I.A.Nadiadwala;  Director : Khalid Akhtar]




ये रात बहुत रंगीन सही (शगुन -1964) Y eh Raat Bahut Rangeen Sahi (Shagoon -1964)

ये  रात बहुत रंगीन सही
इस रात में गम का जहर भी है
नगमों की खनक में डूबी  हुयी
फरियाद ओ फुगाँ की लहर भी है ।
तुम रक्स (नाच) करो, मैं शेर पढूं
मतलब तो है कुछ खैरात मिले
इस कौम के बच्चों की खातिर
कुछ सिक्कों की सौगात मिले
लेकिन इस भीख की दौलत से
कितने बच्चे पढ़ सकते हैं
इल्म और अदब की मंजिल के
कितने जीने चढ़ सकते है ।
दौलत की कमी ऐसी तो नहीं
फिर भी ग़ुरबत का राज है क्यों
सिक्के तो करोड़ों ढल-ढल कर
टकसाल से बाहर आते है
किन गारों में खो जाते हैं
किन परदों में छुप जाते हैं  ।
ये रात बहुत रंगीन सही
इस रात में गम का जहर भी है
नगमों की खनक में डूबी हुयी
फरियाद ओ फुगाँ की लहर भी है ।

I got another version of this ghazal in  one of the website, which is given below:

ये रात बहुत रंगीन सही
इस रात में गम का जहरभी है
नगमों की खनक मेंडूबी हुयी
फरियाद ओ फुगाँ कीलहर भी है ।

तुम रक्स (नाच) करो,  मैं शेर पढूं
मतलब तो है कुछ खैरात मिले
इस कौम के बच्चों कीखातिर
कुछ सिक्कों की सौगात मिले | 

सिक्के तो करोड़ों ढल-ढल कर
टकसाल से बाहर आते है
किन गारों में खो जाते हैं
किन परदों में छुप जाते हैं ।
ये जुल्म नहीं तो फिर क्या है,
पैसे से तो काले धंधे हों
और मुल्क की वारिस नस्लों की
तालीम की खातिर चंदे हों
अब काम नहीं चल सकने का
रहम और खैरात के नारे से
इस देश के बच्चे अनपढ़ हैं
दौलत के गलत बंटवारे से |
बदले ये निजाम ए जरदारी
कह दो ये सियासतदानो से
ये मसला हल होने का नहीं
कागज़ पर छपे ऐलानों से |
[Singer : Rafi, Composer : Khaiyyam, Production : Shaheen Art,  Director : Nazar, Actor : Wahida Rehman,  Kamaljeet]



March 19, 2012

देख तेरे भगवान की हालत क्या हो गयी इंसान ( रेलवे प्लेटफार्म -1955) Dekh tere bhagwan ki haalat kya ho gayi insaan (Railway Platform -1955)


देख तेरे भगवान की हालत क्या हो गयी इंसान
कितना बदल गया भगवान |
भूखों के घर में डेरा न डाले,
सेठों का हो मेहमान
कितना बदल गया भगवान |
उन्ही की पूजा प्रभु को प्यारी,
जिनके घर लक्ष्मी की सवारी
जिनका धंधा चोर बजारी,
हमको दे भूख और बेकारी,
इनको दे वरदान
देख तेरे भगवान की हालत क्या हो गयी इंसान |

सेठ -
       सुनकर इस पापी को तानो
       बदल न लीजो अपनों  ठिकानो
       हे भगवान हे भगवान
      मेरो थारो प्रेम पुरानो
      हम हैं थैले तुम हो खजानों
     भरते रहियो दास की झोली देते रहियो दान
     तुम्हारी जय जय हो भगवान
    तुम्हारी जय जय हो भगवान
    कितना बदल गया भगवान ..

धन वाले हैं बड़े मछंदर
सोने के बनवाएं मंदर
भगवन रहते इनके अन्दर
खरी-खरी कहता है कलंदर
बन बैठा है इस दुनिया में धर्म से धन बलवान
कितना बदल गया भगवान |
[Music : Madan Mohan, Producer : Saigal Production, Direction : Ramesh Saigal, Actor : Sunil Dutt, Manmohan Krishan]

खाली डिब्बा खाली बोतल ले ले मेरे यार (नील कमल-1968) Khali dibba khali bottel le le mere yaar (Neel Kamal - 1968)

खाली डिब्बा खाली बोतल ले ले मेरे यार
खाली से मत नफरत करना खाली सब संसार

बड़ा-बड़ा सा सर खाली डब्बा, बड़ा-बड़ा सा तन खाली बोतल
वो भी आधे खाली निकले जिन पे लगा था भरे का लेबल
हमने इस दुनिया के दिल में झाँका है सौ बार |
खाली डिब्बा खाली बोतल ले ले मेरे यार ....

भरे थे तब बंगलों में ठहरे, खाली हुए तो हम तक पहुंचे
महलों की खुशियों के पाले, फुटपाथों के गम तक पहुंचे
इन शरणार्थियों के सर पे दे दे थोड़ा प्यार |
खाली डिब्बा खाली बोतल ले ले मेरे यार....

खाली की गारंटी दूंगा, भरे हुए की क्या गारंटी
शहद में गुड के मेल का डर है,
घी के अन्दर तेल का डर है
तम्बाखू में घास का ख़तरा,
सेंट में झूटी बास का ख़तरा
मक्खन में चर्बी की मिलावट,
केसर में कागज की खिलावट
मिर्ची में ईंटों के घिसाई,
आटे में पत्थर की पिसाई
व्हिस्की अन्दर टिंचर घुलता,
रबड़ी  बीच बलोटिन तुलता
क्या जाने किस चीज़ में क्या हो,
गरम मसाला लीद भरा हो

खाली की गारंटी दूंगा, भरे हुए की क्या गारंटी
क्यों दुविधा में पड़ा है प्यारे,  झाड़ दे पाकिट खोल दे अंटी
छान पीस कर खुद भर लेना, जो कुछ हो दरकार
खाली डिब्बा खाली बोतल ले ले मेरे यार....

[Music : Ravi,  Singer : Manna Dey,  Producer : Pannalal Maheshwary,  Director : Ram Maheshwary,  Actor : Mahmood]